FOODS ENVENENAMIENTO : फ्रिज या फ्रीजर में कितने टाइम खाना रखा जा सकता है , फूड प्वाइजनिंग की चपेट में आ सकते हैं,

आप फूड प्वाइजनिंग की चपेट में आ सकते हैं, जो जानलेवा भी हो सकता है. इसका मतलब यह नहीं है कि आप बचे हुए खाने को खाना छोड़ दें. खाने को अच्छी तरह रखने के लिए सही तरीकों का पालन जरूरी है, ताकि जब आप बचा हुआ भोजन करें तो आप सुरक्षित रहें. बचा हुआ खाना पैसे बचाने,

भोजन में विविधता लाने और भोजन की बर्बादी को कम करने का एक शानदार तरीका है. मगर बचा हुआ खाना जोखिम भरा भी हो सकता है, क्योंकि यह बैक्टीरिया के संपर्क में भी आ जाता है.अगर आपने बचे हुए खाने को सही तरीके से नहीं रखा और सही तरीके से गर्म नहीं किया

खाने को जल्दी फ्रिज में रखा :

यह अहम है कि बचे हुए खाने को जितना जल्दी हो और अधिकतम दो घंटे के अंदर फ्रिज या फ्रीजर में रख देना चाहिए. समय को लेकर दी गई यह सलाह इस बात पर आधारित है कि फ्रिज के बाहर के तापमान पर भोजन में बैक्टीरिया कितनी तेजी से बढ़ सकते हैं.हमारी दुनिया में बैक्टीरिया हर जगह मौजूद हैं, जिनमें रसोई और उनके भीतर रखे खाना भी शामिल हैं. भोजन को खराब करने वाले बैक्टीरिया पोषक तत्वों, नमी और तापमान के साथ तेजी से बढ़ सकते हैं और 20 मिनट में इनकी संख्या दोगुनी होती चली जाती है.

खाने को अच्छी तरह ढकें :

भोजन को ढकने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्लास्टिक की पन्नी या ‘एयरटाइट’ ढक्कन से खाने को ढकना चाहिए जो भोजन को हवा के संपर्क में आने से रोकता है. यह अहम है, क्योंकि बहुत से बैक्टीरिया को बढ़ने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है.आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बचे हुए खाने को अच्छी तरह से ढका जाए.

फ्रिज में रखने पर खाना सुरक्षित कब तक है :

बचे हुए खाने को दो दिन के अंदर खा लेना चाहिए, क्योंकि इसके बाद हानिकारक बैक्टीरिया को पनपने का समय मिल जाता है. दरअसल, लिस्टेरिया जैसे जर्म्स फ्रिज के तापमान में भी पनप सकते हैं और दो दिन से अधिक वक्त के बाद इनके बढ़ने की अधिक संभावना है.अपने फ्रिज को शून्य से पांच डिग्री के बीच के तापमान पर रखें, क्योंकि इतना तापमान बचे हुए भोजन में ऐसे बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है, जो फूड प्वाइजनिंग का कारण बनते हैं.

अधिक बार गर्म कर सकते हैं :

खाना जब भी गर्म होता है और ठंडा होता है, तो यह किसी भी हानिकारक बैक्टीरिया को फिर से पनपने के लिए सही तापमान और आवश्यक समय प्रदान करता है. इसके बाद अगली बार जब आप बचे हुए भोजन को फिर गर्म करेंगे तो सभी बैक्टीरिया को मारना कठिन हो जाएगा. अगर आपको नहीं लगता कि आप दो दिन में अपना सारा बचा हुआ खाना खा लेंगे, तो उसे फ्रीजर में जमा दें.आपको बचे हुए खाने को एक से अधिक बार गर्म नहीं करना चाहिए.

DELHI SEXUAL CRIMES : यौन अपराध में 19% का इजाफा, ऑनलाइन भी किया जा रहा है

दोबारा गर्म कर सकते हैं :

अगर आपने इसे अपनी कार के पीछे गर्म रखा या घर में कमरे के तापमान पर दो घंटे से अधिक समय तक छोड़ दिया था, तो खाने से फूड प्वाइजनिंग का खतरा हो सकता है, खासकर तब जब आप इसे पहले ही छू चुके हैं या आंशिक रूप से खा चुके हैं. हालांकि, आपने खाने को ज्यादा हाथ नहीं लगाया और खरीदने के दो घंटे के अंदर फ्रिज में रख दिया तो खाने को फिर से गर्म कर सकते हैं.आप पैक कराकर लाए भोजन को सुरक्षित रूप से दोबारा गर्म कर सकते हैं या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने इसे कैसे स्टोर किया है.

पके चावल :

जो फूड प्वाइजनिंग का कारण बनता है. चावल पकाने पर मूल बैक्टीरिया मर जाते हैं, लेकिन इसके बीजाणु उबलते पानी के तापमान में जीवित रह सकते हैं. चावल को पकाने के बाद दो से तीन घंटे के भीतर फ्रिज में नहीं रखा गया तो बैक्टीरिया पनप सकते हैं और यह चावल को खराब कर सकते हैं जिनका सेवन करने से अतिसार, पेट दर्द और उलटी जैसी समस्याएं हो सकती हैं.पके हुए चावल और चावल से बनी चीजों को बचाकर रखना जोखिम भरा हो सकता है. कच्चे चावल में बैसिलस सेरेस के बीजाणु हो सकते हैं,

ये भी पढ़े : DELHI SEXUAL CRIMES : यौन अपराध में 19% का इजाफा, ऑनलाइन भी किया जा रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *